Parag agarwal : पराग अग्रवाल: ट्विटर के नए सीईओ का 11 साल पुराना ट्वीट क्यों बना निशाना

By | December 1, 2021
Parag agarwal

पराग अग्रवाल: ट्विटर के नए सीईओ का 11 साल पुराना ट्वीट क्यों बना निशाना

Parag agarwal : पराग अग्रवाल को ट्विटर का नया सीईओ बनाए जाने की घोषणा के साथ ही उन्हें लेकर ट्विटर ही नहीं हर मीडिया में और हर जगह उनके नाम की चर्चा होने लगी, कि वो भारतीय मूल के हैं, आईआईटी बॉम्बे से पढ़े हैं, आदि-इत्यादि.

लेकिन ट्विटर पर उन्हें लेकर एक अलग चर्चा भी छिड़ गई. सोमवार को जैक डोर्सी के ट्विटर सीईओ का पद छोड़ने के बाद जैसे ही पराग अग्रवाल के नाम की घोषणा हुई, कुछ लोगों ने उनका एक पुराना ट्वीट ढूँढ निकाला.

ट्रोलर्स ने उनके एक दशक पुराने ट्वीट को खोज निकाला जिसमें पराग अग्रवाल ने मुसलमान, चरमपंथी, गोरों और नस्लभेद की बात की थी.

पराग अग्रवाल के ट्वीट का एक दशक बाद अलग-अलग मतलब निकाला जा रहा है लेकिन इस ट्वीट को लेकर उन्होंने तभी सफ़ाई जारी कर दी थी.

आख़िर क्या है ट्वीट : Parag agarwal

पराग अग्रवाल ने 26 अक्तूबर 2010 को एक ट्वीट किया था और तब वो ट्विटर के साथ काम नहीं करते थे.

उन्होंने अपने उस ट्वीट में लिखा था, “अगर वो मुसलमान और चरमपंथियों के बीच अंतर नहीं करने वाले हैं तो फिर मुझे गोरे लोगों और नस्लवादियों में अंतर क्यों करना चाहिए?”

उनके सीईओ बनने की घोषणा के बाद इस एक दशक पुराने ट्वीट पर नामी-गिरामी लोगों के कमेंट की बाढ़ आ गई है. हालांकि, इस ट्वीट को लेकर उन्होंने पहले ही सफ़ाई जारी कर दी थी.

उन्होंने इसी ट्वीट में बताया था कि यह बात कॉमेडियन आसिफ़ मांडवी ने ‘डेली शो’ के दौरान कही थी जिसे उन्होंने ट्वीट किया था. दरअसल इस कार्यक्रम में कई कॉमेडियनों ने भाग लिया था और इसमें काले लोगों के अधिकारों के बारे में बात हो रही थी.

पराग पर सख़्त टिप्पणियां कर रहे बड़े लोग

दक्षिणपंथी ट्रोल्स लगातार ट्विटर पर ख़ुद को सेंसर किए जाने को लेकर उसकी आलोचना करते रहे हैं. पराग अग्रवाल के पुराने ट्वीट के बहाने लोगों ने ट्विटर को भी नहीं बख़्शा है.

अमेरिका में टेनिसी की सीनेटर और रिपब्लिकन पार्टी की नेता मार्शा ब्लैकबर्न ने इस 11 साल पुराने ट्वीट को रिट्वीट करते हुए लिखा, “ट्विटर के नए सीईओ ने धर्म को पिरामिड स्कीम बताया है. यह वो हैं जो आपकी बात को ऑनलाइन नियंत्रित करने जा रहे हैं.”

अमेरिकी पत्रकार क्ले ट्रेविस ने ट्वीट किया, “यह हैं ट्विटर के नए सीईओ. जैक डोर्सी के जाने के बाद यहाँ पर चीज़ें और ख़राब होने जा रही हैं.”

सिराज हाशमी नामक ट्विटर यूज़र ने लिखा, “जिस संदर्भ में यह वक्तव्य है वो बिलकुल बिंदु से अलग है और डेली शो से आया है. यह साफ़ दिखाता है कि पराग इस धारणा से सहमत हैं कि सभी मुस्लिम चरमपंथी नहीं होते और न ही सभी गोरे लोग नस्लभेदी होते हैं.”

सोशल मीडिया पर भारतीय दे रहे बधाई

पराग अग्रवाल को ट्विटर का सीईओ घोषित किए जाने के बाद भारत में पराग अग्रवाल और ट्विटर सीईओ टॉप ट्रेंड में शामिल था. उनके सीईओ बनने पर भारतीय यूज़र उन्हें बधाई दे रहे हैं.

कई भारतीय ट्विटर यूज़र ऐसे ग्राफ़ शेयर कर रहे हैं जिसमें गूगल, माइक्रोसॉफ़्ट के भारतीय मूल के सीईओ की सूची में एक और भारतीय का नाम जुड़ गया है.

वहीं कुछ यूज़र ने पराग अग्रवाल को टैग करते हुए कुछ मांग भी कर दी है.

राजशेखर झा नामक ट्विटर यूज़र लिखते हैं, “पराग अग्रवाल तब ही सच्चे भारतीय माने जाएंगे जब वो जैक के ट्विटर अकाउंट को सस्पेंड करेंगे और कंगना के ट्विटर अकाउंट को बहाल करेंगे. हालांकि, ट्विटर का सीईओ बनने के लिए शुभकामनाएं पराग अग्रवाल. भारत दुनिया पर राज कर रहा है.”

ट्विटर का नया सीईओ घोषित किए जाने के बाद पराग अग्रवाल ने पूर्व सीईओ जैक डोर्सी और दूसरे साथियों का आभार जताया है.

उन्होंने ट्विटर पर पोस्ट किए पत्र में लिखा, ”शुक्रिया जैक, मैं सम्मानित महसूस कर रहा हूं. और मैं आपसे लगातार मिलने वाली सलाह और आपकी दोस्ती के लिए आभारी हूं. आपने मुझ पर जो भरोसा जताया उसके लिए भी मैं आभारी हूं. मैं पूरी टीम का आभारी हूं कि उन्होंने हमारे भविष्य में भरोसा जताने की प्रेरणा दी.”

”मैं इस कंपनी से 10 साल पहले तब जुड़ा था, जब इसमें एक हज़ार से कुछ कम कर्मचारी थे. भले ही ये एक दशक पहले की बात है पर मेरे लिए ये कल जैसा ही है. मैंने इस दौरान कई उतार-चढ़ाव, चुनौतियां, जीत और ग़लतियां देखीं. लेकिन तब भी और अब भी मैं ट्विटर का ग़ज़ब का प्रभाव और इसकी लगातार हो रही प्रगति देखता हूँ.”

पराग अग्रवाल ने लिखा, ”हमने अपने उद्देश्यों को पाने के लिए अपनी रणनीति को हाल ही में अपडेट किया है. लेकिन, हमारे सामने चुनौती है कि उसे कैसे लागू करें और नतीजे हासिल करें ताकि ट्विटर को अपने उपभोक्ताओं, शेयरधारकों और आप सभी के लिए सबसे बेहतर बनाया जा सके.”

”दुनिया हमें इस समय देख रही है बल्कि पहले से भी कहीं ज़्यादा. कई लोगों के अलग-अलग नज़रिए और विचार होंगे क्योंकि वो ट्विटर और हमारे भविष्य की फिक्र करते हैं और इससे पता चलता है कि हम जो काम कर रहे हैं वो मायने रखता है. आओ, दुनिया को ट्विटर की पूरी क्षमता दिखाएं!”

कहानी दुनिया का सबसे अमीर शख़्स बनने की

अज़ीम प्रेमजी : कहानी बिजनेस के बादशाह और सबसे बड़े दानवीर की 

 

पिता बनाते थे अचार, लंदन से पढ़ाई कर आई बेटी ने बिजनेस में बंटाया हाथ, 3 साल में कमाए 1 करोड़ रुपये

JRD Tata: भारत रत्न प्राप्त करने वाले एकमात्र उद्योगपति

Two World twokog.com के सोशल मीडिया चैनल से जुड़ने के लिए यहाँ

क्लिक करिये –

फ़ेसबुक

ट्विटर

इंस्टाग्राम

 

Leave a Reply